National बिहार

टूटे फोन से सीखी कोडिंग, Harvard University पढ़ने पहुंचा 12 साल का किसान का बेटा

जो व्यक्ति पूरी श्रद्धा के साथ मेहनत करता है। वह कोई भी लक्ष्य आगे जाकर प्राप्त कर सकता है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जहां एक 12 साल के युवक ने कमाल करके दिखा दिया है और अब वह अमेरिका की हावर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करने वाला है। इसे शायद किस्मत नहीं कह सकते हैं, यह उस बच्चे की मेहनत हैं, जिसका फल उसे अब हावर्ड यूनिवर्सिटी के रूप में मिला है।

दरअसल हम जिस बच्चे की बात कर रहे हैं, उसका नाम कार्तिक जाखड़ है और वह हरियाणा जिले का रहने वाला है। इस बच्चे ने अपने छोटे से मोबाइल से एक बहुत बड़ा कमाल करके दिखा दिया है, जिसकी वजह से उसका नाम गिनीज बुक वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल हो गया है। इस बच्चे ने अपने टूटे हुए मोबाइल से तीनों लर्निंग एप्स बनाए हैं, जो कमाल के हैं। यानी कि आप इस लर्निंग एप्स से अच्छी तरह से पढ़ सकते हैं। इसके लिए कार्तिक ने कोई कोचिंग नहीं ली. केवल मोबाइल फोन पर वीडियो देखकर वहां से सीख लेकर ऐप तैयार किए हैं।

बिहार में लागू होगा नया कानून, सीएम नीतीश की कैबिनेट बैठक में लगेगी मुहर

वहीं गौर करने वाली बात है कि कार्तिक ने जिस मोबाइल फोन के जरिए एप्स बनाए हैं, वह मोबाइल बिल्कुल टूटी हुई है। उसमें कुछ भी ठीक तरह से दिखाई नहीं देता है। फिर भी कार्तिक ने इतनी मेहनत की है, उसने सफलता हासिल कर ली। कार्तिक बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखता है। उसके पिता खेती-बाड़ी करते हैं। कार्तिक की तीन बहने हैं, जिसमें वह सबसे छोटा है।


हालांकि अपनी सफलता के बारे में बात करते हुए कार्तिक ने बताया कि उसके घर में पढ़ाई लिखाई के लिए ना टेबल है ना चेयर है और ना ही उसके गांव में बिजली की सुविधा है। लेकिन जब लॉकडाउन लगा था तो उसने एंड्रॉयड फोन लिया था और उसके जरिए वह यूट्यूब पर कोडिंग वीडियो देखकर सिखा था। इसके बाद ही उसने अपना खुद का ऐप बनाने का प्लान बनाया। कार्तिक ने बताया कि जब वह ऐप बना रहा था, उसे काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। लेकिन उसने हार नहीं मानी।