National बिहार

बिहार: वाहन चालकों के लिए जरूरी ख़बर, परिवहन विभाग ने जारी की नई गाइडलाइंस

बिहार में पिछले कुछ सालों में तेजी के साथ ड्राइविंग लाइसेंस बन रहे हैं। बिना किसी टेस्ट के लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस मिल जा रहा और इसकी सबसे मुख्य वजह टेस्टिंग ट्रैक किसी भी जिले में ना होना है। जी हां बिहार में फिलहाल सिर्फ दो ही टेस्टिंग ट्रैक मौजूद है, जो औरंगाबाद और पटना जिला में स्थित है। जिसकी वजह से दूसरे जिलों के लोगों को पटना और औरंगाबाद आकर टेस्ट देखकर लाइसेंस बनवाना पड़ता है, लेकिन ऐसे कई लोग हैं, जो बिना टेस्ट दिए हुए भी अपना ड्राइविंग लाइसेंस बनवा रहे हैं।

इसी बात को ध्यान रखते हुए बिहार सरकार ने सभी जिलों में टेस्टिंग ट्रैक बनाने का फैसला लिया है और परिवहन विभाग ने भी इसके लिए गाइडलाइन जारी कर दिया है। टेस्टिंग ट्रैक के लिए 9 जिलों को पैसे जारी कर दिए गए हैं। अभी नौ जिलों को दो करोड़ 80 लाख रुपए जारी किए गए हैं। इसमें वैशाली को 50 लाख, गया 35 लाख, रोहतास 35 लाख, समस्तीपुर 30 लाख, मुजफ्फरपुर 30 लाख, जमुई 25 लाख, शिवहर 25 लाख, लखीसराय 25 लाख और मुंगेर को 25 लाख दिया गया है। इन जिलों को कुल पांच करोड़ 34 लाख 98 हजार 500 रुपए दिए जाएंगे।

खुशखबरी: बिहार सरकार का बड़ा ऐलान, इन छात्राओं को मुफ्त में इंजिनिराइंग ओर मेडिकल की कराएगी तैयारी

वही जिलों को अगले चरण में बाकी राशि दी जाएगी। राशि जिलाधिकारी सह जिला सड़क सुरक्षा समिति के अध्यक्ष को दी गई है। मौजूदा वित्तीय वर्ष में ही इन जिलों में टेस्टिंग ट्रैक का निर्माण पूरा किया जाएगा। टेस्टिंग ट्रैक बनने से काफी ज्यादा फायदा होने वाला हैं। इससे लोगों को आसान तरीके से ड्राइविंग लाइसेंस मिल जाएगी और जो व्यक्ति योग्य है, उसे ही ड्राइविंग लाइसेंस जारी किया जाएगा और सड़क दुर्घटनाओं में भी कमी आएगी।