Bihar Breaking News News देश नई दिल्ली पटना बिहार बेनीपट्टी मधुबनी राज्य

Plot Registry Rate Update : अभी जमीन रजिस्ट्री की नई फीस क्या है ? जानिए पूरी जानकारी

इस टाइम पर ज्यादातर लोगों का सपना होता है कि वह अपना खुद का घर बनाए और आज की नई पीढ़ी अपने पैसों से अपना घर बनाना चाहती है। इसी कारण लोग नई-नई जमीन खरीद रहे हैं, और जो लोग नई जमीन खरीद रहे हैं उनके मन में बार-बार एक ही सवाल आ रहा है कि आखिर जमीन रजिस्ट्री की फीस क्या है ?

क्योंकि अगर आप रजिस्ट्री ऑफिस जाकर पता करेंगे तो इसमें आपको काफी समय लगेगा और इसी कारण लोग इंटरनेट की सहायता से जमीन रजिस्ट्री की फीस जानना चाहते हैं।

इसी कारण से हम आज का यह आर्टिकल आप लोगों के लिए ही लेकर आए हैं। इस आर्टिकल के अंदर हम आपको बिल्कुल अच्छे से जानकारी देंगे की जमीन रजिस्ट्री की फीस क्या है? और आप अपने इलाके की जमीन रजिस्ट्री की फीस कैसे चेक कर सकते हैं।

अगर आपको जमीन रजिस्ट्री की फीस जननी है तो इसके लिए आप इस आर्टिकल को पूरा अंत तक जरूर पढ़ें, क्योंकि इस आर्टिकल के अंदर जमीन रजिस्ट्री के बारे में और अन्य जानकारियां भी दी गई है।

जमीन रजिस्ट्री की फीस क्या है ?

तो चलिए बढ़ते हैं आज के हमारे मुख्य पॉइंट की तरह है कि जमीन रजिस्ट्री की फीस क्या है? इस पॉइंट के अंदर हम बिल्कुल डिटेल से जमीन रजिस्ट्री फीस के बारे में जानकारी हासिल करेंगे। तो चलिए देखते हैं कि आखिर जमीन रजिस्ट्री फीस क्या होती है ?

जब हम किसी भी जमीन को हमारे नाम पर आते हैं तो उस वक्त कोर्ट में जाकर रजिस्ट्री कराने का एक-एक खर्चा लगता है और उस खर्चे कोई हम जमीन रजिस्ट्री फीस कहते हैं।

दोस्तों जमीन की रजिस्ट्री फीस हर एक जगह पर अलग-अलग होती है, जमीन की रजिस्ट्री फीस है इलाके के हिसाब से सरकार द्वारा तय की जाती है।

दोस्तों अगर आप शहर में जमीन लेते हैं तो शहर की जमीन का सर्किल रेट का 6 से 7 पर्सेंट तक स्टांप शुल्क होता है। यानी कि अगर आप शहर में कोई जमीन खरीदते हो और अगर उस जमीन का सर्किल रेट 2 लाख रूपे है तो वहां पर आपको 12 से 14 हजार रूपे स्टांप शुल्क देना पड़ेगा।

अगर आप गांव में रहते हैं या फिर गांव की जमीन खरीदना चाहते हैं तो इसके लिए आपको जमीन के सर्किल रेट का 4 से 5 पर्सेंट तक स्टांप शुल्क भुगतान करना पड़ता है। जैसे कि अगर गांव में आप 1 लाख रुपे की जमीन खरीद रहे हैं तो वहां पर आपको 4 हजार से 5 हजार रुपे तक के स्टांप शुल्क का भुगतान करना पड़ेगा।

अगर आपको अपने इलाके की जमीन का सर्किल रेट पता करना है तो आप इस पॉइंट की मदद से बड़ी आसानी से आपनी जमीन का सर्किल रेट पता कर सकते हैं। क्योंकि सर्किल रेट के आधार पर ही हमें जमीन रजिस्ट्री की फीस का पता लगता है।

जब आप इस वेबसाइट को ओपन कर देंगे तो आपको यहां पर तीन लाइन पर क्लिक करना है, और क्लिक करने के बाद आपके सामने मूल्यांकन सूची का एक ऑप्शन ओपन होगा आप को उस पर क्लीक कर देना है।

अब आपको यहां पर जनपद और उप निबंधक कार्यालय को सेलेक्ट करना है, और उसके बाद कैप्चा कोड डालकर मूल्यांकन सूची देखें के ऑप्शन पर क्लिक करें।
जैसे ही आप मूल्यांकन सूची देखें के ऑप्शन पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने कुछ नया इंटरफेस ओपन होगा यहां पर आपको प्रति देखें के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।

जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे तो आपके फोन में सर्किल रेट की पीडीएफ डाउनलोड हो जाएगी और आप इसमें अपने इलाके का सर्किल रेट चेक कर सकते हैं।

दोस्तों आप लोग तो जानते ही हैं कि आज के समय में कितनी ज्यादा धोखाधड़ी चल रही है। इसी बीच मान लीजिए अगर आप किसी ऐसे अनजान व्यक्ति से सिर्फ पैसे देकर जमीन खरीद लेते हैं और उसका कोई भी डॉक्यूमेंट नही लेते तो आने वाले समय में वहा पर केस कर के उस जमीन को हथियाने की कोशिश कर सकता है। इससे बचने के लिए जमीन की रजिस्ट्री कराई जाती है।

जमीन रजिस्ट्री कराने के लिए कुछ दस्तावेज होते हैं जिनके अंदर जमीन के पहले वाले जमीन मालिक का नाम हटाकर आपका नाम दर्ज कर दिया जाता है। यह सारी प्रक्रिया कोर्ट के अंदर होती है जिस कारण से कि आपके पास एक पुख्ता सबूत हो जाता है। उस जमीन के बारे में, इस कारण से पहले वाला मालिक आप पर किसी प्रकार का भी दावा नहीं कर सकता कि वह जमीन उसकी है, इसी प्रक्रिया को जमीन की रजिस्ट्री कहा जाता है।

अगर आप जमीन रजिस्ट्री की फीस जानना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सर्किल रेट का पता होना बहुत ही जरूरी है। अब कुछ लोगों के मन में सवाल होगा कि आखिर सर्किल रेट क्या होता है ? तो दोस्तों जमीन के सरकारी रेट को भी सर्किल रेट कहा जाता है। यानी कि आप जहां भी जमीन खरीदते हैं उस जमीन का सरकार एक निश्चित मूल्य तय करती है। उस ही जमी का सर्किल रेट या फिर सरकारी रेट कहा जाता है।

हर एक जगह पर जमीन का सर्किल रेट अलग-अलग होता है। जैसे कि मान लीजिए अगर कोई जमीन किसी सड़क के किनारे पर है तो उस जमीन का सर्किल रेट काफी ज्यादा होता है, और वहीं पर अगर कोई ऐसी जमीन है जो बंजर है या फिर किसी ऐसे इलाके में है जिसके आसपास बिल्कुल सुनसान इलाका है तो उसे जमीन की कीमत काफी कम होती है।

ज्यादातर शहर की जमीन का सर्किल रेट ज्यादा होता है और गांव का जमीन का सर्किल रेट कम होता है। सर्किल रेट के आधार पर ही जमीन की रजिस्ट्री की फीस तय की जाती है।

अगर आपके मन में जमीन रजिस्ट्री की फीस क्या है ? से रिलेटेड कोई भी सवाल है तो इस पॉइंट को पढ़ने के बाद आपको आपके सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे। क्योंकि इस पॉइंट के अंदर हमने कुछ ऐसे चुनिंदा सवालों पर चर्चा की है जो कि लगभग हर एक व्यक्ति द्वारा पूछे जाते हैं।

1 एकड़ जमीन की रजिस्ट्री में कितने रुपए लगते हैं?
जमीन की रजिस्ट्री सर्किल रेट के आधार पर तय की जाती है। जैसे कि अगर आप शहर में 1 एकड़ जमीन ले रहे हैं जिसका मूल्य ₹100000 है तो आपको वहां पर सर्किल रेट का 6 से 7 पर्सेंट तक स्टांप ड्यूटी भुगतान करना पड़ता है। तो इस कारण से 1 एकड़ जमीन का आपको 6 से 7 हजार तक का भुगतान करना पड़ेगा।

क्या जमीन की रजिस्ट्री रद्द हो सकती है?
अगर किसी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की प्रॉब्लम होती है तो वह अपनी जमीन की रजिस्ट्री को रद्द करा सकता है।

1 एकड़ में कितने बीघे होते हैं?
अगर आपको नहीं पता कि 1 एकड़ में कितने बीघे होते हैं तो चलिए हम आपको बताते हैं। दोस्तों 1 एकड़ में 1.62 बीघे होते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हमने जाना कि जमीन रजिस्ट्री की फीस क्या है। अगर आपको इस टॉपिक के बारे में जानकारी हासिल कर के अच्छा लगा तो इस आर्टिकल को उन लोगों तक जरूर शेयर करें। जो लोग अभी अपनी जमीन खरीद रहे हैं और उसकी रजिस्ट्री फीस के बारे में चिंतित हैं, तो इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद उन लोगों को जरूर फायदा होगा।

Source : bhulekhbhunaksha.in