National बिहार

दलित इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने ‘संविधान दिवस’ किया आयोजित, डॉ. जितेंद्र पासवान ने लोगों को किया संबोधित

दलित इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के द्वारा आज यहां केंद्रीय कार्यालय में ” संविधान दिवस” धूम धाम से मनाया गया व सभा का आयोजन किया गया। सभा का उद्घाटन करते हुए एसोसिएशन के संस्थापक चेयरमैन डॉ. जितेंद्र पासवान ने संविधान की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि – “देश में समतामूलक समाज की स्थापना करना और अनुसूचित जाति- अनुसूचित जनजाति व वंचित समाज के लोगों को सभी क्षेत्रों में नौकर बनने के स्थान पर मालिक बनाना ही संविधान और बाबा साहब अम्बेडकर का उद्देश्य था और इसी उद्देश्य की प्राप्ति हेतु एसोसिएशन देश के समस्त राज्यों में कार्य करने के लिए दृढ़ संकल्पित है ।

वही उन्होंने आगे कहा कि आज ही के दिन वर्ष 1946 में संविधान के प्रारूप को अंगीकृत व अधिनियमित किया गया था जिसके मूल में बाबा साहेब की सोच यह थी कि अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति व वंचित समाज के लोग विकास की मुख्य धारा में आकर समान अवसर का उपयोग कर अपनी उन्नति कर सकें “।

Bihar Trains Cancel: बिहार और यूपी के रेल यात्रियों के लिए जरूरी ख़बर, Indian Railway ने कैंसिल की 12 जोड़ी ट्रेनें

इसी के साथ डॉ.पासवान ने कहा कि सिर्फ आरक्षण लाभों के सहारे दलित और आदिवासी समाज आर्थिक तरक्की नहीं कर सकता है इसके लिए एकमात्र विकल्प उद्यमी बनना है क्योंकि उद्योग, वाणिज्य और व्यापार को स्थापित करके समाज न केवल अपनी आर्थिक उन्नति कर सकेगा बल्कि समाज में मालिक बन कर स्थापित भी हो पाएगा । उन्होंने आगे कहा कि आर्थिक सशक्तिकरण के द्वारा अनुसूचित जाति- अनुसूचित जनजाति के लोगों को सर्वांगीण विकास में भागीदार बनाना ही एसोसिएशन का कार्य और उद्देश्य है।

बता दें, उन्होंने सभा में उपस्थित सभी लोगों से यह आग्रह किया कि वे संविधान की पुस्तक का अध्ययन करें और वंचित समाज के आर्थिक, सामाजिक और राजनेतिक न्याय के प्रति सजग हों व राष्ट्र की आर्थिक उन्नति में सहयोग करें । सभा में महासचिव जनक राम , महासचिव डॉ. आर पी एस किरण, महासचिव शुभम सौरभ, डॉ. डी एन प्रसाद, सुबोध कुमार , अभिषेक सिन्हा , पॉलिश कुमार सूरज, गुड्डू कुमार , नवीन कुमार आदि उपस्थित रहे।