(BP Mandal Engineering College)
बिहार राज्य

Sarswati Puja 2023: रामचरितमानस विवाद के बाद बिहार के इस इंजीनियरिंग कॉलेज में सरस्वती पूजा पर रोक

Sarswati Puja 2023: बिहार में रामचरितमानस विवाद अभी थमा भी नहीं है कि एक दूसरा विवाद शुरू हो गया है। दरअसल मधेपुरा के बीपी मंडल इंजीनियरिंग कालेज (BP Mandal Engineering College) के प्राचार्य ने महाविद्यालय परिसर में सरस्वती पूजाकी प्रतिमा स्थापित नहीं करने का आदेश दिया है। आदेश के खिलाफ छात्रों में नाराजगी देखी जा रही है। बता दें कि इसे लेकर कॉलेज प्रशासन और छात्रों के बीच मंगलवार से ही विवाद चल रहा है।

Sarswati Puja 2023: प्रिंसिपल ई. अरविंद कुमार अमर ने सार्वजानिक पूजा पर लगी रोक

कॉलेज के प्रिंसिपल ई. अरविंद कुमार अमर का कहना है कि पूजा होने की वजह से आसपास के लोगों से विवाद की संभावना रहती है। इसलिए ऐसा निर्णय लिया गया है। आज कोई सरस्वती पूजा करेगा। कल को दूसरे समुदाय के लोग अपनी पूजा के आयोजन की मांग करेंगे। प्रचार्य ने कहा कि इसी वजह से हमलेगों ने ये निर्णय लिया है कि महाविद्यालय परिसर में किसी भी प्रकार का सार्वजनिक पूजा पाठ, धार्मिक अनुष्ठान से संबंधित आयोजनों पर रोक लगाई गई है। हालांकि उन्होंने कहा है कि सरस्वती पूजा करने पर रोक नहीं है। छात्र अपने कमरों में तस्वीर लगाकर पूजा कर सकते हैं। यह आदेश बीते मंगलवार 17 जनवरी को दिया गया है।

मंगलवार  से जारी है विवाद

मंगलवार को इंजीनियरिंग कॉलेज में सरस्वती पूजा मनाने को लेकर छात्रों और प्रशासन के बीच विवाद हो गया था। विवाद इतना बढ़ गया था कि आक्रोशित छात्रों ने समझाने गई पुलिस को भी काफी देर तक मेन गेट बंद कर अंदर रोके रखा था। छात्रों ने बताया कि हमलोगों ने प्रिंसिपल ई। अरविंद कुमार अमर को आवेदन देते हुए कैंपस में सरस्वती पूजा करने की मांग की थी। लेकिन प्रिंसिपल द्वारा सार्वजनिक रूप से प्रतिमा स्थापित करने से मना कर दिया गया था।

भाजपा युवा मोर्चा ने मांगी अनुमति

वहीं, मामले में भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश कार्य समिति के सदस्य राहुल यादव ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है। पहले से ही परंपरा रही है कि विद्यार्थी शिक्षा के मंदिर में पूजा-अर्चना करते हैं। मां सरस्वती विद्या की देवी है, इसलिए पूजा होनी चाहिए। इसमें प्रशासन को सुरक्षा के नाम पर मना करना कहीं से भी ठीक नहीं है। मैं जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन से भी आग्रह करता हूं कि छात्रों की मांग को मानें और पूजा करने की अनुमति दें।